UNCATEGORIZED

हिंदी दिवस सह साहित्य साधक डॉ विपिन बिहारी ठाकुर की पुण्यतिथि पर रोसड़ा में समारोह का आयोजन आज, “12वीं पुण्यतिथि पर शत शत नमन”

रोसड़ा । सुप्रसिद्ध समीक्षक और हिंदी के मूर्धन्य विद्वान डॉ० विपिन विहारी ठाकुर की 12 वीं पुण्यतिथि 14 सितम्बर को है। इस अवसर पर साहित्य परिषद् , रोसड़ा एवं डॉ० विपिन विहारी ठाकुर स्मृति संस्थान, रोसड़ा के संयुक्त बैनर तले प्रति वर्ष की तरह इस वर्ष भी समारोह का आयोजन हो रहा है। इसमें हिंदी के विद्वान ,लेखक , कवि,पत्रकार ,हिंदी प्रेमी सहित गणमान्यजन भाग ले रहे हैं। डॉ०रामरतन सिंह ,समीक्षक, पटना मुख्य अतिथि तथा डॉ०गगनदेव चौधरी विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। याद रहे , रोसड़ा निवासी डॉ० विपिन विहारी ठाकुर ने अपने व्यक्तित्व और कृतित्व के बल पर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी विशिष्ट पहचान बनाकर काफी यश अर्जित किया । वे यूआरकालेज के हिंदी विभागाध्यक्ष ,प्रधानाचार्य , एल एन मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा के मानविकी संकायाध्यक्ष ( डीन ) , सीनेट एवं सिंडिकेट सदस्य ,शोध निदेशक ,शोध परीक्षक और हिन्दी साहित्य सम्मेलन ,प्रयाग के उपसभापति एवं कार्यकारी अध्यक्ष जैसे पद को सुशोभित कर चुके थे। वे आथर्स गिल्ड आफ इंडिया , भारतीय हिन्दी परिषद् ,हिन्दी साहित्य सम्मेलन, प्रयाग जैसी प्रसिद्ध संस्थाओं से आजीवन जुड़े रहे। डॉ०ठाकुर ने स्थानीय स्तर पर राष्ट्रभाषा समिति ,अभिव्यक्ति और साहित्य परिषद् जैसी संस्थाओं की स्थापना की। डॉ०ठाकुर को कहानी संग्रह प्रतिबिम्ब , डॉ०महेश अवस्थी अभिनन्दन ग्रन्थ ,चेतना ,हिन्दी साहित्य:एक मूल्यांकन ,युयुत्सु का कवि कर्म आदि से प्रसिद्धि मिली। प्रतिबिम्ब कहानी संग्रह पर दक्षिण भारत के वि वि में शोध कार्य हो चुके हैं।उनकी सैकड़ों रचनाएँ देश के प्रसिद्ध पत्र ,पत्रिकाओं ,संकलनों और ग्रन्थों मे प्रकाशित एवं आकाशवाणी के विभिन्न केंद्र से प्रसारित हैं। उन्होंने मैथिली की कई पुरस्कृत कृतियों की हिन्दी में समीक्षा की। हिन्दी में उत्कृष्ट और महत्त्वपूर्ण योगदान के लिए हिन्दी साहित्य सम्मेलन ,प्रयाग की सर्वोच्च उपाधि ” साहित्य वाचस्पति ” से उनको सम्मानित किया जा चुका है।
ऐसे हिन्दी सेवक और साधक का महाप्रयाण 14 सितम्बर हिन्दी दिवस के अवसर पर करना हिन्दी जगत में अद्भुत संयोग और विलक्षण घटना के रूप में लम्बे समय तक याद किया जायेगा। ऐसे हिन्दी साधक को शत् शत् नमन।

[metaslider id="5451"]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close