आस्थाबिहार
Trending

आज की नारियां पश्चिमी सभ्यता की अनुकरण कर रही है नारी को पतिवर्ता रहने के बाद ही वे भवसागर पार उतर सकती है। 

शिवाजीनगर । आज की नारियां पश्चिमी सभ्यता अनुकरण कर रही है। नारी को पतिवर्ता रहने के बाद ही वह भवसागर पार उतर सकती है। प्रखंड के चितौड़ा गांव के महावीर स्थान में श्रीमद् भागवत महापुराण के छठवे  दिन की कथा में कथावाचक आचार्य वेदव्यास जी महाराज ने उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा ब्रज की गोपियां भगवान श्री कृष्ण से आगाध प्रेम करती थी भगवान श्री कृष्ण ने 16 हजार गोपियों के साथ महा रास रचाया था जिस महा रास में भगवान शंकर एवं माता पार्वती जी महा रास को देखने के लिए वृंदावन पधारे थे उन्होंने कहा भगवान श्री कृष्ण ने बाल्यावस्था में ही गोवर्धन पर्वत को उठा कर पूरे वृंदावन वासियों को इंद्र के कोप से बचाया था और इंद्र की अहंकार को चकनाचूर कर दिया। मौके पर छोटे भूरा छोटे ठाकुर जी महाराज, गायक व्यास लेखराज जी, बादक सुनील तिवारी, आयोजक वरुण कुमार मंडल, गंगाराम मंडल, राम कुमार मंडल, अखिलेश कुमार, विवेक कुमार, अनीता देवी, भोला साह,राम करण मंडल,शंकर कुमार शिक्षक सहित अन्य मौजूद थे।
समाचार के साथ कथावाचक वेदव्यास जी महाराज एवं तथा कथा श्रवण करते श्रद्धालुओं की फोटो संलग्न है।

[metaslider id="5451"]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close